निकिता हत्याकांड : दस दिनों में चार्जशीट पेश करने की तैयारी

फरीदाबाद : बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता तोमर हत्याकांड में घिरा शासन-प्रशासन अब इस मामले की जांच में हरकत में आ गया है। तीन राज्यों में लोगों के बीच हत्याकांड को लेकर सुलगती चिंगारी को देखते हुए जांच में जुटी एसआईटी आगामी दस दिनों के अंदर ही इस मामले की चार्जशीट कोर्ट में पेश कर सकती है।
कानूनविदों का मानना है कि निकिता हत्याकांड में पुलिस के हाथ सभी कुछ लगा चुका है। हथियार तो हत्यारे मौके पर ही छोड़ गए थे। जबकि दोनों हत्यारों को वारदात के पांच घंटे बाद ही पुलिस ने धर दबोचा था। इसके साथ ही मौके से मिली सीसीटीवी फुटेज से भी पूरी घटना स्पष्ट है। वारदात के समय मौके पर निकिता के साथ रही उसकी सहेली ने भी अपने बयान दर्ज कर दिए हैं। वह सहेली एक चश्मदीद गवाह है। इसके अलावा मौके पर मौजूद अन्य चश्मदीद गवाहों की सूची भी पुलिस तैयार कर रही है।
वारदात का उद्देश्य भी पहले ही दिन से स्पष्ट रहा है। इसके अलावा अब रिमांड के दौरान आरोपियों ने जो खुलासे किए हैं, उसे भी उनका उद्देश्य स्पष्ट हो जाता है। ऐसे में पुलिस के पास अब चार्जशीट का ही काम बचा है।  इस पूरे मामले की निगरानी कर रहे डीसीपी क्राइम अनिल ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया है कि एसआईटी को स्पष्ट कर दिया गया है कि वह सभी कोण से इस पूरे केस को देख लें।
फोरेंसिक से लेकर बेलेस्टिक जांच तक की रिपोर्ट जुटाकर आरोपियों के खिलाफ सभी साक्ष्य पुख्ता किए जा रहे हैं। पूरे मामले में सबूत, विभिन्न जांच रिपोर्ट और चश्मदीद गवाहों के बयान और उनकी गहन पड़ताल के बाद चार्जशीट जल्द ही तैयार की जा सकती है।
गौरतलब है कि 26 अक्तूबर को सोहना रोड स्थित अपना घर सोसायटी में रहने वाली बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता तोमर की तौसीफ नामक युवक ने उस समय गोली मारकर हत्या कर दी थी जब वह बल्लभगढ़ स्थित अग्रवाल कॉलेज में परीक्षा देने पहुंची थी। हत्यारोपी तौसीफ और उसके साथ रेहान ने पहले छात्रा को जबरन कार में डालना चाहा था। इस दौरान छात्रा के साथ मौजूद उसकी सहेली ने भी हत्यारों का विरोध किया था। इसी दौरान तौसीफ ने निकिता को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *