सीएम खट्टर की महापंचायत का विरोध : करनाल में पुलिस और किसानों में भिड़ंत, मंच को किया तहस नहस, हैलीपेड पर कब्जा

-पुलिस ने आसू गैस के गोले दागे, वाटर केनन का लिया सहारा
-किसानों की भीड़ देखकर लौट गया खट्टर का हेलीकाप्टर
करनाल : मुख्यमंत्री मनोहर लाल किसान की कैमला किसान महापंचायत का विरोध कर रहे आंदोलनकारी किसानों ने आज दोपहर कार्यक्रम स्थल में घुसकर सारे प्रबंधों को तहस नहस कर दिया और हैलीपेड पर कब्जा कर लिया। इससे पहले सुबह करनाल जिले के कैमला गांव में भाजपा की तरफ से आज किसान महापंचायत रैली आयोजित की जा रही थी जिसमें राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर किसानों को संबोधित करने वाले थे लेकिन उनका विरोध करने के लिए वहां हजारों किसान इकट्ठा हो गये। स्थिति तनावपूर्ण होते देख पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिये कड़ाके की ठंड में पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले दागे। किसान रविवार को कैमला गांव की ओर ट्रैक्टर, एसयूवी, कार और बाइक पर मार्च करते हुए जाने लगे, उस समय पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने शुरु कर दिये। हालांकि किसान कैमला रोड पर घरौंडा में लगाए गए पहले बैरिकेड को पार करने में सफल हो गये।
करनाल के एसपी गंगा राम पुनिया ने किसानों को शांत करने की कोशिश की, लेकिन किसानों ने दूसरे बैरिकेड के पास धरना दे दिया। पुलिस ने कैमला रोड पर ट्रक और और डंपर खड़ा कर किसानों का रास्ता रोक दिया। 4 एसपी और 12 से अधिक डीएसपी के नेतृत्व में आसपास के जिलों की पुलिस को अलग-अलग प्रवेश बिंदुओं पर तैनात किया गया है। किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पुलिस ने दूसरे बैरिकेड के पास ट्रक खड़े किए हैं। पुलिस से झड़प के बाद किसान फिलहाल गांवों और खेतों की ओर चले गये। वहां भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए कई बार आंसू गैस का इस्तेमाल किया और पानी की बौछारें फेंकी लेकिन आंदोलनकारी तमाम नाके तोड़कर आगे बढ़ते गये।
इस बीच खेतों के रास्ते गांव में पहुंचे किसानों ने हैलीपेड उखाड़ा और वहां अपना झंडा लगा दिया। इस दौरान भाजपा समर्थकों ने भी कई जगह आंदोलनकारी किसानों पर हमले किए। पुलिस और भाजपा समर्थकों के बार-बार विरोध को झेलते हुए कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे आंदोलनकारी करीब डेढ़ बजे तक शांत रहे। लेकिन जब हैलीपेड के पास भाजपा समर्थकों ने किसानों पर कथित तौर पर हमले किए तो हजारों आंदोलनकारी किसानों की भीड़ उग्र हो गई और उन्होंने हैलीपेड को उखाड़कर कार्यक्रस स्थल को तहस-नहस कर दिया। मुख्यमंत्री के आने से पहले हुई इस तोड़फोड़ के बाद तमाम भाजपा नेता कार्यक्रम स्थल से भाग निकले। इससे पहले दोपहर साढे़ 12 बजे एक हेलीकाप्टर उड़ान भरकर सभा स्थल तक आया लेकिन हैलीपेड के चारों और हजारों आंदोलनकारी किसानों की भीड़ देखकर हेलीकाप्टर लौट गया। इस बीच कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सीएम खट्टर पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘मा. मनोहर लाल जी, करनाल के कैमला गाँव में किसान महापंचायत का ढोंग बंद कीजिए, अन्नदाताओं की संवेदनाओं एवं भावनाओं से खिलवाड़ करके क़ानून व्यवस्था बिगाड़ने की साज़िश बंद करिए। संवाद ही करना है तो पिछले 46 दिनों से सीमाओं पर धरना दे रहे अन्नदाता से कीजिए।’