दिव्यांग व्यक्तियों को विशेष अवसर प्रदान करें : नगराधीश ब्रहमप्रकाश यादव

गुरुग्राम : विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर आज जिला के श्रवण एवं वाणी निशक्तजन कल्याण केन्द्र में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में गुरूग्राम के नगराधीश ब्रहमप्रकाश यादव ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।
इस अवसर पर नगराधीश ने गत दिनों आयोजित हुई राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। नगराधीश ने कहा कि दिव्यांग बच्चो में अनूठी कौशलता होती है और यह जरूरी है कि हम उनकी इस क्षमता को समझे और उन्हें सही राह दिखाएं। सरकार इस दिशा में बहुत से प्रयास कर रही है जिससे दिव्यांग बच्चों, व्यक्तियों एवं सभी को हर संभव सुविधा मिल सके।
उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य है कि शारीरिक अथवा मानसिक रूप से निशक्त लोगों का मनोबल बढ़ाकर उन्हें सही दिशा दिखाएं ताकि राष्ट्र निर्माण में उनकी भूमिका का अपेक्षित सहयोग मिल सके। समाज के सभी वर्गों का भी कत्र्तव्य बनता है कि वे अपने आस पास के दिव्यांग व्यक्तियों को विशेष अवसर प्रदान करें तथा उन्हें अपने साथ आगे बढ़ने मे मदद करें ताकि वे भी समाज की मुख्य धारा से जुड़े रहें।
उन्होंने कहा कि यदि हम दिव्यांग व्यक्तियों को समान अवसर तथा प्रभावी पुनर्वास की सुविधा प्रदान करें तो वे सुखद जीवन व्यतीत कर सकते है। उन्होंने कहा कि आज के समय में दिव्यांगो की बढती योग्यता की पहचान की जा रही है और वह अपनी एक अलग पहचान भी बना रहे है । उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिव्यांगजन में किसी न किसी प्रकार की विशेष प्रतिभा होती है, आवश्यकता होती है तो सिर्फ उनकी इच्छा शक्ति को जागृत कर उनके आत्मविश्वास बढ़ाने की।
आज केन्द्र के बच्चों को वर्चुअल आयोजित किए गए राज्य स्तरीय समारोह में सम्मानित किया गया। केन्द्र की असिस्टेंट डायरेक्टर डा. सीमा ने बताया कि प्रतियोगिता में अलग-अलग श्रेणियां बनाई गई थी। केन्द्र के आकाश सिंह ने बैस्ट इंडीविजुअल श्रेणी में बाजी मारी जिसके लिए उन्हें 25 हजार रूप्ये का पुरस्कार, शील्ड तथा स्करोल दिया गया। इसी प्रकार, रोहित ने 18 वर्ष से कम आयु वर्ग में बैस्ट क्रिएटिव चाइल्ड अवार्ड(बाल) प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया जिसके लिए 7500 रूपये का पुरस्कार, मेडल तथा स्करोल दिया गया। इस केन्द्र की निरचरा ने बैस्ट क्रिएटिव चाइल्ड अवार्ड(कन्या) प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागी को 7500 रूपये, मेडल तथा स्करोल देकर सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *