खून के बदले खून : 37 साल पहले दादा की हत्या का लिया बदला

रोहतक : खिड़वाली गांव में छह दिन पहले हुए आजाद हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। गांव के ही शंकर ने दोस्तों के साथ मिलकर 37 साल पहले अपने दादा की हत्या का बदला देने के लिए वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने मुख्य आरोपित सहित दो को गिरफ्तार कर पांच दिन का रिमांड हासिल किया है। अपराध जांच शाखा-2 इस ब्लाइंड मर्डर की जांच कर रही थी।
प्रभारी अपराध शाखा-दो के सब इंस्पेक्टर नरेश कुमार ने बताया कि गांव खिड़वाली में दस नवंबर को आजाद की अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी थी। आजाद सिंह का शव पशुओं के कमरे में पड़ा मिला था। गले व पैरों पर चोट के निशान थे। पुलिस अधीक्षक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अपराध जांच शाखा-दो को इसकी जांच सौंपी। पुलिस टीम ने एएसआइ सतीश कादयान के नेतृत्व में जांच करते हुए गांव खिड़वाली के शंकर पुत्र राजेश व आशीष पुत्र जगबीर निवासी नांदल को गिरफ्तार किया। आशीष का पुराना आपराधिक रिकार्ड भी रहा है। मोटरसाइकिल की पांच वारदात कर चुका है। पुलिस जांच में सामने आया कि 1983 में शंकर के दादा की हत्या हुई थी। हत्या का आरोपी आजाद पर लगा था। कुछ समय बाद दोनों पक्षों का राजीनामा हो गया था। लेकिन आरोपित शंकर ने अपने दादा की हत्या का बदला लेने के लिए आजाद की हत्या की वारदात का षडयंत्र रचा तथा अपने दोस्तों के साथ मिलकर अंजाम दिया है। गौरतलब है कि रोहतक में बदमाशों ने आतंक मचाया हुआ है। आए दिन हो रही हत्याओं से लोगों में दहशत का माहौल कायम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *