वापस नहीं मिला उधार दिया पैसा, कारोबारी ने की आत्महत्या !

गुरुग्राम : उधार दिए पैसे नहीं लौटाने से परेशान कारोबारी ने मंगलवार को अपनी फैक्ट्री में आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले कारोबारी ने आठ लाख रुपये ज पर रुपये दिए थे। लेकिन वह अब रुपये नहीं लौटा रहा। इसी कारण कारोबारी पिछले कई दिनों से परेशान था। उसी से परेशान होकर कारोबारी ने मंगलवार को झाड़सा स्थित अपनी फैक्ट्री में फांसी लेकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मृतक के बेटे की शिकायत पर सदर थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
फ्रेंडस कॉलोनी निवासी सौरभ जैन ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह एक निजी कंपनी में काम करता है। उसके पिता सुदेश जैन ने गांव झाड़सा में रबड़ से पहिए बनाने की फैक्ट्री लगाई हुई है। पिता के जानकार रिंकु उर्फ संदीप निवासी पटौदी का आठ लाख रुपये ब्याज पर दिए थे। वहीं रिंकु ने पिता के अन्य छह-सात लोगों से भी रुपये लिए हुए थे। वह अब रुपये नहीं लौटा रहा था। उसी के कारण पिता पिछले काफी समय से परेशान थे। उसी से परेशान होकर पिता ने मंगलवार को फैक्ट्री में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले मृतक सूसाइड नोट लिखा। उसमें रिंकु का नाम लिखा कि वह रुपये नहीं दे रहा है।
सदर थाना प्रभारी दिनेश यादव ने बताया कि मृतक के पिता की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी है।