फ़ोन पर ठगी मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम का छापा, तीन युवकों को हिरासत में लिया !

नूंह: मुंबई में फोन काल्स के जरिये लोगों से ठगी करने तथा उन्हें विभिन्न माध्यमों से ब्लैकमेल करने के आरोपितों की धरपकड़ के लिए मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने नूंह जिले में दबिश देकर तीन युवकों को हिरासत में लिया है। आरोप है कि इन युवकों ने मुंबई के धनी लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनसे 20 लाख रुपये की ठगी की थी। देर रात फिरोजपुर झिरका पहुंची मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने पुन्हाना, फिरोजपुर झिरका से लगते कई गांवों के लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया, फिर शक के आधार पर पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर अपने साथ मुंबई ले गई। मुंबई क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर प्रमोद कोपीकर ने बताया कि मुंबई में मेवात के रहने वाले कुछ युवकों ने जालसाजी तथा ठगी कर लोगों से लाखों रुपये हड़पने का काम किया है। आरोपित मुंबई के धनी लोगों को ब्लैकमेल कर उनसे ठगी करते थे। ठगी करने के इनके विभिन्न माध्यम थे। क्राइम ब्रांच की टीम के पास जब लाखों की ठगी की जांच आई तो टीम ने सक्रियता दिखाते हुए आरोपितों की खोजबीन उनके मोबाइल नंबरों के आधार पर शुरू कर दी।
क्राइम ब्रांच ने जब ठगी के शिकार हुए व्यक्तियों के फोन काल्स की डिटेल निकाली तो मालूम हुआ कि मेवात के रहने वाले युवकों ने कई लोगों को अपना शिकार बनाया है। पुलिस द्वारा पिछले कई दिनों से आरोपितों के नंबरों की काल डिटेल को ट्रेस किया जा रहा था। पुलिस लोकेशन के आधार पर फिरोजपुर झिरका छापेमारी करने पहुंची तो यहां टीम ने साकरस, लुहिगाकला सहित अन्य गांवों के लोगों को हिरासत में लिया। शक के आधार पर अपराध शाखा की टीम ने तीन युवकों को हिरासत में लिया है। टीम द्वारा इन्हें मुंबई ले जाया जा रहा है।
फिरोजपुर झिरका के थाना प्रबंधक ने बताया कि ब्लैकमेलिग कर ठगी करने वाले तीन युवकों को मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा हिरासत में लिया गया है। स्थानीय पुलिस द्वारा भी आरोपितों का क्राइम रिकार्ड खंगाला जा रहा है। हिरासत में लिए गए आरोपितों के नाम अराफत, तारीफ व मकसूद बताया गया है।