मानव अधिकार दिवस पर गरीबों को फ्री में इलाज कराने का अधिकार देकर मनोहर सरकार ने रचा इतिहास : सूरज पाल अम्मू

-हर नागरिक स्वस्थ हो का सपना साकार कर रही है हरियाणा में भाजपा सरकार
– चिरायु योजना से हरियाणा की आधी आबादी आई सुरक्षा के घेरे में
-चिरायु योजना के तहत 729 निजी व सरकारी अस्पतालों में होगा फ्री इलाज
गुरुग्राम : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता सूरज पाल अम्मू ने आज गुरुग्राम में बताया कि हरियाणा भाजपा हरियाणा सरकार चिरायु योजना के जरिए प्रदेश का हर नागरिक स्वस्थ हो का सपना साकार कर रही है। शनिवार को मानव अधिकार दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्चुअल रूप से 10 लाख गोल्डन कार्ड वितरित कर गरीबों को फ्री में इलाज कराने का अधिकार देकर इतिहास रचा है। चिरायु योजना के लागू होने से प्रदेश के 28 लाख अंत्योदय परिवार यानि की आधी आबादी स्वास्थ्य सुरक्षा के घेरे में आ जाएगी।
डा. संजय शर्मा ने बताया कि हरियाणा की बीजेपी सरकार ने 31 दिसंबर तक 28 लाख परिवारों को चिरायु योजना में शामिल करने का लक्ष्य रखा है। मीडिया प्रमुख ने कहा कि मोदी-मनोहर सरकार विकास के साथ-साथ हर व्यक्ति के स्वास्थ्य की भी चिंता करती है। इसलिए मनोहर सरकार ने आयुष्मान भारत योजना को विस्तार रुप देकर चिरायु योजना के तहत सवा करोड़ लोगों को हर साल पांच लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज देकर सुरक्षा चक्र मजबूत किया है। इस योजना के तहत प्रदेश के गरीब लोग 176 नागरिक अस्पतालों व 553 प्राइवेट अस्पतालों में अपना इलाज करा सकते हैं और इसका खर्च राज्य की बीजेपी सरकार उठाएगी।
1600 गांवों व सभी शहरों में बांटे गए चिरायु कार्ड
सूरज पाल अम्मू ने बताया कि हरियाणा की मनोहर सरकार ने गरीबों व समाज के अंतिम व्यक्ति के हितों के लिए जितना काम किया है वह हरियाणा के इतिहास में कभी नहीं हुआ। प्रदेश के गरीब लोग बीमारी के कारण परेशान ना हो इसके लिए चिरायु हरियाणा योजना के दायरे में उनको सुरक्षित कर दिया है। शर्मा ने कहा कि शनिवार को 1600 गांवों व सभी शहरों में मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुअल रूप से 10 लाख लोगों को चिरायु कार्ड दिए गए हैं। 21 नवंबर से शुरू हुई योजना से अब तक 1888 लोग लाभ उठा चुके हैं।
चिरायु योजना के तहत 5 लाख तक का फ्री में करा सकते हैं इलाज
प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि सरकार प्रदेश के हर एक व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सुवधिाओं का लाभ सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य के ऐसें सभी जरूरतमंद परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के अतंर्गत लाभ दिया जा रहा है जिनकी आर्थिक हालत खराब है और उनकी वार्षिक आय 1 लाख 80 हजार रुपये से कम है। राज्य के नागरिकों को उपचार संबंधी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 5 लाख रुपए तक का खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इसके अलावा इस योजना में दिव्यांग का इलाज भी सम्मिलित किया गया है।
कल्याणकारी योजनाओं से सभी का भला कर रही है बीजेपी सरकार
प्रवक्ता सूरज पाल अम्मू ने कहा कि ‘‘सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया, सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद दुख भागभवेत’’ यानि कि सभी सुखी होवें, सभी रोगमुक्त रहें, सभी का जीवन मंगलमय बनें और कोई भी दुःख का भागी न बनें इसलिए मनोहर सरकार लगातार कल्याणकारी योजनाएं लाकर सभी का भला कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की योजना है कि हर जिले में एक मेडिकल कालेज खोला जाए ताकि आम जनता को उनके आस पास ही स्वास्थ्य लाभ मिल सके। इतना ही नहीं आने वाले समय में 2000 स्वास्थ्य सर्वेक्षण केंद्र बनाए जाएंगे ताकि हर नागरिक के स्वास्थ्य की जांच की जा सके।