ड्रंकन ड्राइविंग: एल्कोमीटर नहीं तो क्या, ब्लड टेस्ट करा पकड़ेगी दिल्ली पुलिस !

नई दिल्ली : नए साल पर शराब पीकर राजधानी की सड़कों पर वाहन चलाने वालों के खिलाफ दिल्ली ट्रैफिक पुलिस सख्ती से पेश आएगी। इस बार ड्रंकन ड्राइविंग करते हुए पकड़े जाने वाले संदिग्धों का ब्लड टेस्ट होगा। कनॉट प्लेस व नई दिल्ली इलाके में पकड़े जाने वाले ऐसे लोगों के लिए बकायदा इसके लिए संसद मार्ग थाने में व्यवस्था की गई है। यहां पर एक एसडीएम व दो डॉक्टर यह काम करेंगे।
इसके अलावा दिल्ली की प्रमुख मार्केट व बार-रेस्टोरेंट व सड़कों पर पकड़े जाने वाले ऐसे संदिग्ध लोगों का नजदीक सरकारी अस्पताल में इलाज होगा। दरअसल, अभी तक ट्रैफिक पुलिस सड़कों पर एल्कोमीटर से ड्रंकन ड्राइविंग की जांच करती है, लेकिन बीते मार्च से कोरोना संक्रमण के चलते यह बंद है। पुलिस के पास 276 एल्कोमीटर हैं।
पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, ऐसा चालक जो अनियंत्रित होकर वाहन चला रहा है। जांच में उसके हाव-भाव, बातचीत आदि से संदिग्ध की पहचान होगी। नशे में मिलने पर ट्रैफिक नियमों के मुताबिक उस पर कार्रवाई होगी। सड़कों पर महिला चालकों पर भी पैनी नजर रखी जाएगी। लोगों को सलाह है कि नियमों का पालन करें। शराब पीकर वाहन न चलाएं। रेस्टोरेंट और बार मालिकों के साथ बैठक कर उन्हें भी इस बारे में ग्राहकों को जागरूक करने के लिए कहा गया है। केवल प्री बुकिंग व ट्रैफिक पास लगे वाहनों को ही कनॉट प्लेस में प्रतिबंधित समय में प्रवेश की अनुमति होगी। बाइक पर स्टंट करने के लिए भी प्रमुख सड़कों तिलक नगर, रिंग रोड, आदि मार्गों को चिन्हित किया गया है। यहां पुलिसकर्मी दुपहिया सवारों पर नजर रखेंगे।