फिलीपींस की खिलाड़ी को हराकर रितु फोगाट ने मार लिया मैदान !

चरखी दादरी : मिक्स मार्शल आर्ट चैंपियनशिप में द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर फौगाट की बेटी रीतू फौगाट ने अपनी प्रतिद्वंदी फिलीपींस की खिलाड़ी जोमारी द जाम्बोआंगिनियन फाइटर टोरेस को हराकर अपने अपराजित रिकार्ड को कायम रखा है।
बता दें कि दादरी जिले के गांव बलाली निवासी रीतू फौगाट ने एक वर्ष पहले मिक्स मार्शल आर्ट, एमएमए में जाने का निर्णय लिया था। रीतू एमएमए जाने वाली एकमात्र भारतीय महिला पहलवान है। रीतू का फिलहाल सपना एमएमए में विश्व की पहली महिला चैंपियन बनने का है। इसी मकसद से पहलवानी छोड़कर एमएमए के रिग में उतरी है। रीतू दंगल गर्ल गीता और बबीता फौगाट की सबसे छोटी बहन हैं। रीतू अंतरराष्ट्रीय स्तर की महिला कुश्ती खिलाड़ी रह चुकी हैं। वह अंतरराष्ट्रीय कुश्ती स्पर्धाओं में एक दर्जन मेडल जीत चुकी हैं। एक साल पहले उन्हें एमएमए ज्वाइन की थी। एक साल में रीतू की वन चैंपियनशिप की चार बाउट हुई हैं और रीतू ने चारों में जीत हासिल की है। रीतू ने इससे पहले तीसरी बाउट में कंबोडिया की खिलाड़ी को एक तरफा शिकस्त दी थी।
रीतू फौगाट ने कहा कि उनका सपना भारत को उसका पहला मिश्रित मार्शल आर्ट विश्व चैंपियन देने का है। 25 नवंबर को रीतू की बड़ी बहन संगीता फौगाट की शादी थी। चार नवंबर को होने वाली बाउट की ट्रेनिग के चलते वह शादी समारोह में भी शामिल नहीं हो पाई थी। द्रोणाचार्य अवार्डी कोच महावीर फौगाट ने बताया कि अपनी बेटी रीतू का जोश व जज्बा एमएमए में विश्व रिकार्ड बनाएगा। रीतू अपनी मेहनत के बूते एमएमए की विश्व की पहली महिला चैंपियन बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *