घटिया निर्माण सामग्री की जांच के लिए जनप्रतिनिधियों ने खोला मोर्चा

फर्रुखनगर (नरेश शर्मा) : हरियाणा की प्रदेश भले ही भ्रष्टाचार मुक्त व पारदर्शिता की बात करती हो लेकिन जब बाढ़ ही खेत को खाने लगे तो फसल सुरक्षा की आस कैसे की जा सकती है। ऐसा ही एक मामला थाना फर्रुखनगर में सामने आया है। थाना परिसर में पुलिस की नाक तले, पुलिस कर्मचारियों के बैठने के लिए बनाये जा रहे मित्र कक्ष में घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। घटिया निर्माण सामग्री की जांच के लिए क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने मोर्चा खोल दिया है। अगर शीघ्रता से मामले की जांच करके दोषियों के खिलाफ कोई संज्ञान नहीं लिया गया तो क्षेत्र के लोग धरना प्रर्दशन के लिए मजबूर हो सकते है।
नगर पार्षद मुरारी लाल सैनी, अधिवक्ता जितेंद्र सैनी, पूर्व पार्षद नीरू शर्मा, सरपंच इंद्रजीत शर्मा, सरपंच गोरधन माजरी, जल सिंह सरपंच बिरहेडा, विनोद सरपंच खुर्रमपुर आदि का कहना है कि सरकार हर कार्य में पारदर्शिता बरत रही है तो फिर थाना फर्रुखनगर में बनाये जा रहे मित्र कक्ष का अभी तक कोई निरीक्षण क्यों नहीं किया गया। पुलिस की नाक के नीचे ही मित्र कक्ष के निर्माण में पीली ईंटे, काला क्रेसर आदि घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। ठेकेदारों के कर्मचारियों की माने तो यह मित्र कक्ष मात्र 100 वर्ग गज में एक सिंगल मंजिल का भवन 30 लाख रुपए में तैयार किया जा रहा है। जबकि 15 से 20 लाख में आलीसान मकान बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि थाना फर्रुखनगर के करीब चार पांच दशक पूर्व बनाये भवन के दौरान सही सामग्री का प्रयोग किया जाता तो आज थाना फर्रुखनगर की भवन व रिहायसी भवन जर्जर व खंडर हालत में ना होते। उन्होंने सरकार से मांग की है कि थाना परिसर में बनाये जा रहे मित्र कक्ष में बरती जा रही सामग्री की सैंपलिगं कराई जाये ताकि सही सामग्री से तैयार भवन लम्बे समय तक कायम रह सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *