गुरुग्राम में अभी नहीं हो सकेंगे छात्र संघ के चुनाव

गुरुग्राम : साल 2018 में प्रदेश के कॉलेजों में छात्र संघ के चुनाव 22 साल बाद हुए थे। उम्मीद थी कि अब प्रतिवर्ष छात्र संघ चुनाव होंगे। लेकिन, 2019 में विधानसभा चुनाव के कारण छात्र इसका इंतजार करते रह गए। वहीं, 2020 में कोरोना की वजह से छात्र संघ चुनाव को लेकर असमंजस की स्थिति है। अभी तक न एडमिशन प्रक्रिया पूरी हो पाई है और न ही लास्ट ईयर वाले छात्रों की परीक्षाएं। ऐसे में लग रहा है कि छात्रों को फिर से एक साल का और इंतजार करना पड़ेगा।
दरअसल, राज्‍य के कॉलेजों और यूनिवर्सिटी से कई ऐसे छात्र नेता निकले, जिन्होंने अपनी धमक और कौशल के बूते राज्यों और देश की राजनीति में सफल मुकाम हासिल किए। छात्र संघ के चुनाव को लेकर छात्रों अलग उत्साह नजर आता है। इससे राजनीति में उनकी सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित होती है। साल 1996 में तत्कालीन मुख्यमंत्री बंसीलाल ने छात्र संघ चुनाव पर रोक लगा दी थी। साल 2014 में विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने छात्र संघ चुनाव कराने का वादा किया था, लेकिन 2018 में ही ये चुनाव हो पाए।
2018 में द्रोणाचार्य गवर्नमेंट कॉलेज में छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके राज गुप्ता ने बताया कि उनके लिए वह अनुभव काफी शानदार था। आगे भी चुनाव होने चाहिए। इससे छात्रों में एक आत्मविश्वास आता है। वह कॉलेज के लिए अपने स्तर पर कुछ बेहतर भी कर पाते हैं। छात्र संघ चुनाव का हिस्सा रहे प्रदीप ने बताया कि छात्र संघ चुनाव में 4 पदों के अलावा 5 एग्जिक्यूटिव मेंबर भी बनाए गए थे। अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, सहसचिव पदों के लिए वोटिंग हुई थी तो अन्य पदों के लिए कॉलेज की कमिटी बनाई गई। सेक्टर 14 में गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज के प्रिंसिपल आरके गर्ग ने बताया कि अभी कॉलेजों में एडमिशन प्रक्रिया चल रही है। छात्र संघ चुनाव को लेकर कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है। अभी केवल परीक्षाओं और एडमिशन पर फोकस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *