आशा वर्करों ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला

चरखी दादरी : करनाल में अपनी विभिन्न मांगों को मनवाने के लिए सीएम से मिलने जा रहीं आशा वर्करों पर लाठीचार्ज के विरोध में अन्य विभागों के कर्मचारियों के साथ मिलकर आशा वर्करों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने पशुराम चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका और बरोदा उपचुनाव में सरकार की खिलाफत करने का अल्टीमेटम दिया। प्रदर्शनकारियों के रोष को देखते हुए पुलिस सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। आशा वर्कर्स यूनियन की प्रदेश उपाध्यक्ष कमलेश भैरवी व एसकेएस जिलाध्यक्ष राजकुमार घिकाड़ा की अगुवाई में कर्मचारी संघ कार्यालय में जुटे। यहां उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया। प्रदर्शनकारियों में सिंचाई, बिजली, रोडवेज, शिक्षा सहित कई विभागों के कर्मचारी शामिल हुए। कमलेश भरैवी व राजकुमार घिकाड़ा ने कहा कि 22 अक्तूबर को प्रदेश भर की आशा वर्कर्स गोहाना में जुटेंगी और सीएम से जवाब-तलब करेंगी। मांग पूरी नहीं होने पर बरोदा उपचुनाव में सरकार के खिलाफ प्रचार करेंगी। 26 नवंबर को कर्मचारी एक दिवसीय हड़ताल करेंगे। इस अवसर पर कृष्ण ऊण, विजय लांबा, सुनीत देवी, जगवंती, सुदेश, राजेश व शर्मिला इत्यादि उपस्थित थे।
झज्जर में भी आशा वर्करों ने प्रदर्शन किया और सीएम के खिलाफ नारेबाजी की। आशा वर्कर लघु सचिवालय के नजदीक ग्रीन बेल्ट के पास एकत्रित हुई। उन्होंने सीएम के पुतले की शवयात्रा निकाली और अम्बेडकर चौक पर सीएम के पुतले को फूंक दिया। इस अवसर पर किरण देवी ने कहा कि सरकार उनकी मांगों को मानने की बजाय उनकी बहनों पर लाठीचार्ज करा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *