लाडले की हत्या कर महिला ने लगाई फांसी, आखिर क्यों !

रोहतक : रोहतक जिले में एक महिला ने अपने ढाई साल के बेटे की हत्या कर खुदकुशी कर ली। महिला ने पहले बेटे को जहर खिलाया फिर खुद भी जहर खा कर फांसी लगा ली। मृतक के मायके वालों ने कलानौर थाने में पति समेत ससुराल वालों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि पति से विवाद के चलते महिला कई महीनों से बेटे को साथ अपने मायके में रह रही थी।
पुलिस को दी शिकायत में काहनौर गांव निवासी महिला के पिता लोकेंद्र ने बताया कि उसकी बेटी रश्मि (25) की शादी 2016 में चरखी दादरी के राशीवास गांव निवासी जोगेंद्र के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही ससुराल वाले उसे दहेज के लिए परेशान कर रहे थे। जून 2018 में रश्मि को बेटा हुआ था। अक्टूबर 2020 में ससुरालियों ने रश्मि और उसके बेटे ढाई वर्षीय बेटे हिमांक को घर से निकाल दिया तो वह मायके आकर रहने लगी।
लोकेंद्र ने बताया कि रश्मि ससुरालियों की वजह से वह काफी तनाव में रहती थी। रविवार शाम के समय वह बेटे को लेकर कमरे में गई थी। काफी देर तक जब वह बाहर नहीं आई। परिवार वाले उसे बुलाने गए। लेकिन, वह बाहर नहीं आई, दरवाजा अंदर से बंद था। किसी अनहोनी की आशंका से दरवाजा तोड़ा गया तो रश्मि फंदे पर लटकी हुई थी। बेटा फर्श पर पड़ा था। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। पास में फसलों में डालने वाली कीटनाशक दवाई पड़ी थी।
परिजन आनन फानन में दोनों को अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। खबर मिलते ही कलानौर पुलिस मौके पर पहुंची और मायके पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने पति जोगेंद्र, ससुर वेदपाल, सास धौली, देवेंद्र, कुसुम, विनोद, सुभाष और अजित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।