फास्टैग अनिवार्य होने से दिन भर टोल पर रहा जाम का झाम !

गुरुग्राम: सोमवार आधी रात से फास्टैग सौ फीसद अनिवार्य किए जाने के बाद मंगलवार को पूरे दिन दिल्ली-जयपुर हाईवे स्थित खेड़की टोल प्लाजा पर जाम की स्थिति बानी रही। व्यवस्था बनाए रखने के लिए नियुक्त पुलिस कर्मी भी परेशान नजर आए।
समस्या की वजह यह है कि अभी भी दस फीसद लोग ऐसे हैं जो अपने वाहन में फास्टैग नहीं लगा सके हैं। जब उनसे दोगुना टोल मांगा गया तो वह लाल-पीले होते नजर आए। दूसरी बड़ी समस्या यह रही कि टोल बूथ पर लगाए गए कैमरे दूर से वाहन स्कैन नहीं पा रहे थे। कई बूथ पर तो एक वाहन को निकलने में आठ से दस मिनट लग रहे थे। आगे बढ़ गए वाहन को पीछे करने पर कैमरा रीड कर पा रहा था। ऐसे में लोगों को कतार में खड़े होकर इंतजार करना पड़ा।
स्कैनिग में आ रही दिक्कत के चलते टोल कर्मियों को हाथ की मशीन से मैनुअली फास्टैग को स्कैन कर वाहनों को निकालना पड़ा। फास्टैग पुराने तथा कैश नहीं होने से भी परेशानी हुई। इस तरह की परेशानी प्रत्येक लेन से गुजरने वाले हर दस में से एक वाहन में सामने आ रही थी। दिनभर कई अस्पतालों की एंबुलेंस भी फंस गई। एंबुलेंस चालकों को सायरन बजाकर जगह लेने के लिए मशक्कत करनी पड़ी। जाम अधिक होने के कारण इमरजेंसी लेन तक एंबुलेंस नहीं पहुंच पा रही थी। इसके चलते टोल प्रबंधन को एंबुलेंस से पहले जाम में फंसे वाहनों को बगैर टोल लिए निकालना पड़ा।