किसानों के समर्थन में मातृशक्ति ने भरी हूंकार, संभाला मंच !

-संयुक्त किसान मोर्चा गुरुग्राम का अनिश्चितकालीन धरना 22वां दिन
-किसान आंदोलन अब बन चुका है जन आंदोलन-चौधरी संतोख सिंह
गुरुग्राम : किसानों की माँगो के समर्थन में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे संयुक्त किसान मोर्चा गुरुग्राम के अध्यक्ष चौधरी संतोख सिंह ने बताया कि किसान आंदोलन के 54वें दिन किसान,मज़दूर,गुरुग्राम के विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रमुख व्यक्तियों के साथ भारी संख्या में महिलाएँ धरने पर बैठी।
किसान मोर्चा अध्यक्ष चौधरी संतोख सिंह,राव कमलबीर सिंह तथा गजे सिंह कबलाना ने संयुक्त बयान में कहा कि आज पूरे देश में महिला किसान दिवस मनाया जा रहा है।उन्होंने बताया कि आज धरना पर भारी संख्या में मातृशक्ति ने पहुंचकर किसानों की माँगो के समर्थन में हुंकार भरी।उन्होंने बताया कि महिलाओं की भारी संख्या में भागीदारी बता रही है कि किसानों आंदोलन अब जन आंदोलन बन चुका है।
उन्होंने बताया कि आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता ऊषा सरोहा ने की तथा मंच का संचालन डॉक्टर धनखड़ ने किया। ऊषा सरोहा ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाएँ कंधे से कंधा मिलाकर किसान भाइयों का साथ देंगी। पूर्व निगम पार्षद रमा राठी ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर महिलाएँ ट्रैक्टर तिरंगा यात्रा में बढ़ चढ़कर भाग लेंगी। उन्होंने कहा कि किसान पिछले चार महीने से कड़कड़ाते की ठंड में खुले आसमान के नीचे दिल्ली के चारों तरफ़ सड़कों पर बैठे हुए है।उन्होंने कहा कि सरकार संवेदनहीन हो गई है। सभी महिला वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि सरकार को तानाशाही तथा हठ धर्मिता छोड़कर तीनों काले कानूनों को रद्द कर देना चाहिए।
धरने पर बैठने वालों में डॉक्टर सारिका वर्मा,सुनीता सहरावत, निर्मल यादव,रेखा यादव,मंजू सांखला, मिनाक्षी सहरावत,भारती देवी,शर्मिला रोज़, सुनीता कटारिया,नीलम गुलिया, आशा राठी,रानी,सुदेश डबास,गीतू,सुनीता मलिक,मंजू देसवाल,लोकेश चौधरी,पूनम सहरावत,सुमन सहरावत एडवोकेट,मिनाक्षी सहरावत, यशवंती राठी, राज सरोहा,जैनेत,चौधरी, सुशीला दलाल,मीरा,कुल जीत कौर,राज दरिया,रश्मि शर्मा,बबीता,सुमन,नीलम दहिया एडवोकेट,लीलावती,विद्या,नवनीत रोज,पूर्व पार्षद जसबीर ठकरान,समुन्दर सिंह धनखड़ ढाना,सत्यनारायण नेहरा खाप,राम बाबू शर्मा,धर्मबीर कटारिया एडवोकेट,कृष्ण बीर सिंह चौहान एडवोकेट,पी एल कटारिया,प्रमोद राणा बिजवासन,बलकेश बाल,पूर्व पार्षद रविंदर कटारिया,ईश्वर सिंह पातली,कमल पहलवान गढ़ौली,बार एसोसिएशन के पूर्व सेक्रेटरी अरुण शर्मा,विंग कमांडर एम एस मलिक,डॉक्टर धर्मबीर राठी,युवा नेता परमिंदर कटारिया,अमित नेहरा,मुकेश डागर,लिखी राम जदूवंशी,ऊषा सरोहा,निर्मल यादव, रेखा यादव,डॉक्टर सारिका वर्मा,देविका सिवाच,आशा सिंह,जयप्रकाश रेहडू,मनोज भारद्वाज, जितेन्द्र कौशिक एडवोकेट,नरेंद्रपाल किलहोड,लखपत जांघू,राजकुमार राठी, सुधीर कटारिया,बलवान सिंह दहिया,वीरेंद्र कटारिया,सतीश मराठा,राजू सैनी झाडसा,अभय पूनिया, योगेश्वर दहिया,दलबीर सिंह मलिक,आर के देशवाल,मनोज शोराण,अमित पंवार, मनीष मक्कड़, हरि सिंह चौहान, दिलबाग सिंह, सुधीर कटारिया,बीरेंद्र सिंह कटारिया,तारीफ़ सिंह,सोनू ठाकरान तथा सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल हुए।