गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर ने सेक्टर-83 में किया हाई-टेक पुलिस स्टेशन का उद्घाटन

– वाटिका इंडिया नेक्स्ट परियोजना के लिए वाटिका ग्रुप द्वारा अपने मास्टरप्लान के अंतर्गत विकसित किया गया है यह पुलिस स्टेशन। इस क्षेत्र में पहले से ही रह रहे हैं 30,000 से अधिक रेजिडेंट्स
गुरुग्राम: साइबर सिटी सेक्टर-83 की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए गुरुग्राम के पुलिस आयुक्त श्री केके राव, आईपीएस ने आज न्यू गुरुग्राम के सेक्टर 83 स्थित वाटिका इंडिया नेक्स्ट टाउनशिप में एक हाईटेक और पूरी तरह फंक्श्नल पुलिस स्टेशन का उद्घाटन किया। इस दौरान वाटिका ग्रुप के एमडी श्री गौरव भल्ला और गुरुग्राम पुलिस के कई सेवारत और सेवानिवृत्त कर्मी व अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिती रही।
“आज, वाटिका ग्रुप ने इस पूर्ण रूप से ऑपरेशनल पुलिस स्टेशन को हमें सौंप दिया है। चूंकि कोविड-19 महामारी की वजह से निर्माण कार्य में थोड़ा अधिक समय लगा, इसलिए इससे पहले हम एक किराए के निजी भवन के माध्यम से अपना ऑपरेशन संचालित कर रहे थे। यह बिल्डिंग सभी आवश्यक और अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है और आसपास के क्षेत्रों के निवासियों को एक बड़ी राहत देगा।“ केके राव, गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर |
वाटिका इंडिया नेक्स्ट टाउनशिप में पहले से ही 30,000 से अधिक रेजिडेंट्स रह रहे हैं। क्षेत्र के इस पहले ऑपरेशनल पुलिस स्टेशन को वाटिका ग्रुप द्वारा वाटिका इंडिया नेक्स्ट टाउनशिप के अपने मास्टरप्लान के अंतर्गत विकसित किया गया है। उद्घाटन के अवसर पर वाटिका ग्रुप के एमडी श्री गौरव भल्ला ने कहा, “टाउनशिप में परिचालित पुलिस स्टेशन कानून और व्यवस्था के कार्यान्वयन को मजबूत करने के साथ-साथ वाटिका इंडिया नेक्स्ट की सुरक्षा सुनिश्चित करने में भी गुरुग्राम पुलिस के लिए मददगार साबित होगा।”
10 हजार स्क्वायर फुट में बने इस दो मंजिला हाईटेक पुलिस स्टेशन में एक रिसेप्शन एरिया, रिपोर्टिंग एरिया, एसएचओ,एमएचसी, ड्यूटी ऑफिसर्स, महिलाएं व बच्चे, आईटी, स्टोरेज, लाइब्रेरी, किचेन और पेंट्री के लिए सुसज्जित और समर्पित रूम बनाए गए हैं। इस महत्वपूर्ण सहयोग के एक हिस्से के रूप में, वाटिका ग्रुप ने आधुनिक फर्नीचर, फिटिंग और फिक्सचर के साथ इस पूरी तरह फंक्श्नल बिल्डिंग को विकसित किया है। इसके अलावा, पुलिस बल को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिए एक वाहन प्रदान करने के अलावा, जब तक पुलिस बल द्वारा पानी और बिजली की पर्याप्त व्यवस्था नहीं हो जाती, डेवलपर द्वारा करीब 6 महीने तक मुफ्त पानी और बिजली की आपूर्ति की जाएगी।