बोनस, सब्सिडी और MSP देने की बजाय किसानों से टैक्स और जुर्माने की वसूली करने में लगी सरकार: सांसद दीपेंद्र

गोहाना(सोनीपत): बरोदा उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार इंदुराज नरवाल के लिए प्रचार कर रहे राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर पलटवार किया है। सांसद दीपेंद्र ने मुख्यमंत्री के राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि अगर 3 नये कृषि क़ानूनों में कहीं भी MSP का ज़िक्र हो तो वो राजनीति छोड़ देंगे, नहीं तो मुख्यमंत्री को राजनीति छोड़ देनी चाहिए। मुख्यमंत्री को ऐसा ऐलान करने से पहले एक बार अपनी सरकार के बनाए क़ानून पढ़ लेने चाहिए थे।
दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज बुटाना, गोहाना अनाज मंडी और कथूरा में कई जनसभाओं को संबोधित करते हुए लोगों से वोट मांगे। इस मौक़े पर उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार MSP ख़त्म करने की तरफ क़दम बढ़ा चुकी है। लेकिन सत्ताधारी नेता अब भी किसानों को गुमराह कर रहे हैं। अगर सत्ताधारी नेता सुरक्षा के घेरे और आलीशान राजनीतिक मंचों को छोड़कर कभी आम किसानों के बीच जाएंगे तो उन्हें ज़मीनी सच्चाई पता चल जाएगी। जितनी जल्दी 3 नये कृषि क़ानूनों ने असर दिखाना शुरू कर किया है, उससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि आने वाले वक्त में किसान और आम आदमी के लिए बड़ी परेशानी खड़ी होने वाली है। आज पूरे प्रदेश का किसान अपनी धान, बाजरा, मक्का, सब्जियों और अन्य उत्पादों को बहुत कम रेट पर बेचने के लिए मजबूर है। सरकार ने किसान को पूँजीपतियों के हवाले कर दिया है। पूँजीपतियों के गोदाम में पहुंचते ही किसान के उत्पाद का रेट एकाएक महंगा हो जाता है और आम आदमी को उसके लिए कई गुना अधिक क़ीमत चुकानी पड़ रही है। उदहारण के लिए आज आलू, प्याज, टमाटर जैसी सब्ज़ियों के दाम आसमान छू रहे हैं, जबकि इनको उगाने वाले किसानों को उनकी लागत के बराबर भी रेट नहीं मिल पाता। ज़ाहिर है इस सरकार ने किसान ही नहीं हर आम आदमी को मंहगाई और मुनाफ़ाखोरी की चोट मारने का काम किया है।
आज धान और दूसरी फसलें उगाने वाले किसानों को जो रेट मिल रहा है, उससे लागत भी पूरी नहीं हो पाती। ठेके पर ज़मीन लेकर खेती करने वाले किसानों को ठेके की रकम भी जेब से चुकानी पड़ रही है। बोनस, सब्सिडी और MSP में बढ़ोत्तरी का ऐलान करना तो दूर, सरकार अब इसके बारे में बात तक नहीं करना चाहती। किसानों को लाभ देने की बजाय सरकार खाद, बीज, ट्रैक्टर पार्ट्स, तेल पर भारी टैक्स और पराली जलाने पर भारी जुर्माना लगाकर किसानों से वसूली करने में लगी है। इसलिए ग़रीब, किसान, मजदूर और आम आदमी इस सरकार के पूरी तरह परेशान हो चुके हैं। जनता इंदुराज नरवाल को रिकॉर्ड मतों से जिताकर बीजेपी सरकार को सबक सिखाने का काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *