लाखों किसान घर बार छोड़कर बैठे हैं सड़कों पर : चौधरी संतोख सिंह

गुरुग्राम : किसानों की माँगो के समर्थन में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे संयुक्त किसान मोर्चा गुरुग्राम के अध्यक्ष चौधरी संतोख सिंह ने बताया कि किसान आंदोलन के 113वें दिन किसान,मज़दूर तथा गुरुग्राम के विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रमुख व्यक्ति धरने पर बैठे।
उन्होंने कहा कि आंदोलन को 113 दिन हो गए हैं और लाखों किसान अपना घर बार छोड़कर सड़कों पर बैठे हुए हैं।उन्होंने कहा कि सरकार ने तानाशाही रवैया अपनाकर लॉकडाउन के दौरान अध्यादेश लाकर तीन काले क़ानून जनता पर ज़बरदस्ती थोपें है। उन्होंने कहा कि तीनों काले क़ानून पूंजीपतियों को लाभ पहुँचाने वाले हैं। उन्होंने कहा कि तीनों काले कानूनों से किसान मज़दूर ग़रीब तथा आम जनता का शोषण होगा।
उन्होंने कहा कि सरकार हठ धर्मिता अपनाए हुए हैं और किसानों से बात नहीं कर रही है। उन्होने कहा कि लोकतंत्र में हठ धर्मिता का कोई स्थान नहीं है। उन्होने कहा कि सरकार अहंकार त्यागकर किसानों से बात करें और तीनों काले कानूनों को रद्द करे तथा किसानों की माँगो को मानकर MSP की गारंटी का क़ानून बनाए।
आज धरने पर बैठने वालों में जयप्रकाश रेहडू,डाक्टर धर्मवीर राठी,कमांडेंट सत्यवीर धोंचक,दलबीर सिंह,अनिल पंवार,ऊषा सरोहा, योगेन्द्र सिंह समसपुर, भारती देवी,इन्द्रजीत सिंह,विजय यादव,मनोज झाड़सा,अरुण शर्मा एडवोकेट,तेज राम यादव,मनीष मक्कड़,हरि सिंह चौहान,तनवीर अहमद,महासिंह ठकरान,सतीश कुमार कादीपुर,आर सी हुड्डा, दयानंद शर्मा,योगेश कुमार, सतवीर गुर्जर,मुकेश यादव,आकाश यादव, संजय कुमार,ईश्वर, सुरेन्द्रसिंह,दीनबंधु दत्ता,देशराज सिंह,कमलदीप,लीलावती, विद्या देवी, रमेश देवी, पंजाब सिंह, फूल कुमार, रमेश दलाल तथा अन्य व्यक्ति शामिल हुए।