फायर एनओसी लिए उद्योगपतियों को किया जा रहा तंग : पवन यादव

मानेसर : आईएमटी इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के अध्यक्ष पवन यादव ने कहा कि फायर एनओसी लिए उद्योगपतियों को तंग किया जा रहा है जबकि हरियाणा फायर सेफ्टी एक्ट 2009 में साफ लिखा हुआ है की किसी भी औद्योगिकइ भवन या अन्य कमर्शियल इमारत के लिए 15 मीटर से कम ऊंचाई वाले किसी भवन को फायर एनओसी लेने की आवश्यकता नहीं है ।
उसके बाद भी फायर डिपार्टमेंट मानेसर, गुड़गांव, धारूहेड़ा वा बावल के सभी उद्योगपतियों को नोटिस भेजकर तंग कर रहा है जिस फायर सर्टिफिकेट की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है और अगर कोई सर्टिफिकेट अप्लाई करता है उसके लिए 3 महीने से 4 महीने तक का समय लगता है उद्योगपति को नाजायज तंग किया जा रहा है। 15 तारीख को डीसी गुरुग्राम की उद्योगपतियों के साथ मीटिंग में पवन यादव अध्यक्ष आईएमटी मानेसर ने यह मुद्दा उठाया और वहां पर फायर सेफ्टी ऑफिसर कश्यप ने इस बात को माना।
अगर ऐसा है तो सभी उद्योगों को जिस एन ओ सी की आवश्कता नहीं थी तो इतने साल से क्यों दी जा रही थी। अग्निशमन विभाग ने लोगों को मना क्यों नहीं किया , लोगों को जागृत क्यों नहीं किया कि आपको फायर एनओसी की आवश्यकता ही नहीं है । अगर ऐसी कोई आवश्यकता नहीं थी तो साल दर साल अग्निशमन विभाग लोगों को फायर एनओसी क्यों दे रहा था ।
जब हरियाणा फायर सेफ्टी एक्ट 2009 में यह लिखा हुआ है 15 मीटर ऊंचाई वाली सभी बिल्डिंग में फायर एन ओ सी नहीं चाइए। हर कम्पनी को सिर्फ self-certification ही देना होता हैं । तो क्यों अग्निशमन विभाग इतने सालों से ऐसा कर रहा है क्योंकि उन्होंने यह कमाई का गोरख धंधा बना रखा है हर फायर एनओसी पर उद्योगपतियों से कुछ ना कुछ चढ़ावा लिया जाता है ।
डीसी महोदय ने भी उस मीटिंग में ही माना कि अगर आवश्यक नहीं है तो नहीं लेनी चाहिए उसके इलावा पवन यादव ने एचएसआईआईडीसी को भी अनुरोध किया कि जब हरियाणा फायर सेफ्टी एक्ट में 15 मीटर से ऊंचाई वाली बिल्डिंग को एनओसी नहीं चाहिए तो एचएसआईडीसी विभाग उसी प्रदेश में रहते हुए फायर एनओसी की डिमांड क्यों करता है यह भी गलत है।
मनोज त्यागी महासचिव आईएमटी इंडस्ट्रियल एसोसिएशन ने बताया यह फायर विभाग की गुंडागर्दी है लोगों को तंग किया जा रहा है अपने निजी स्वार्थ के लिए कुछ अफसर उद्योगपतियों को गलत तरीके से तंग करते हैं।